Breaking News
किसान आंदोलन की आहट से सरकार की नींद उड़ी, प्रदेश में हाई अलर्ट, पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द | अध्यापकों के तबादलों से रोक हटी, आदेश जारी | राहुल गांधी की सभा की अनुमति को लेकर बैकफुट पर प्रशासन, बदली शर्ते | किसान और जनता के घरो में डाका डाल रही सरकार : अजय सिंह | शराब दुकानों को लेकर आमने-सामने हुए दो विभाग | सहकारी बैंक का जीएम 50 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया | कम नहीं होगा पेट्रोल-डीजल पर वैट : वित्तमंत्री मलैया | VIDEO : मप्र कोटवार संघ की सरकार को चेतावनी- मांगे पूरी नहीं हुई तो कांग्रेस को देंगें समर्थन | VIDEO : बाप को जेल ले जा रही थी पुलिस, बेटियों ने जीप पर चढ़कर किया जमकर हंगामा | एमपी टूरिज्म के रिसॉर्ट में तेंदुए का टेरर..देखिये वीडियो |

बड़ी खबर : ऑनलाइन टिकटों की कालाबाजारी का पर्दाफाश, 10 लाख के ई-टिकट जब्त

जबलपुर।

मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले के पश्चिम मध्य रेल मंडल ने ऑनलाइन टिकटों की कालाबाजारी का बड़ा पर्दाफाश किया है। आरपीएफ ने टिकट दलाल के यहां छापा मारकर करीब 10 लाख रुपए के 700 से ज्यादा ई-टिकट जब्त किए हैं।पकड़े गये टिकट दलाल आरोपी को रिमांड पर लिया गया है। इससे रेल टिकट दलाली में कुछ और मामलों का खुलासा हो सकता है।

जानकारी के अनुसार, शनिवार देर रात आरपीएफ पोस्ट ने जब गोरखपुर बाजार स्थित अनमोल कैफे पर छापा मारा तो वहां पर राजेश कुमार सकूजा पिता अमरनाथ सकूजा ई-टिकट बनाते हुए मिला । निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह ने जब उस व्यक्ति से पूछताछ की तो उसने बताया कि एजेंड आईडी की वैधता समाप्त होने के कारण वह पर्सनल आई डी से कस्टमर के लिये तत्काल टिकिट एवं नार्मल टिकिट विक्रय का कारोबार कर रहा है। इस साइबर शॉप से 700 ई रेल टिकट जब्त की गई हैं, जिसकी कीमत 10 लाख रुपए है।जांच में पता चला है कि उसके पास लगभग 30 पर्सनल आईडी है जिनसे वह रेल ई-टिकिट बनाता है। तत्काल ई-टिकिट बेचने में प्रति यात्री 200/-रुपये और नॉर्मल टिकिट बेचकर प्रति टिकिट पर 30/-रुपये उसको मिलते है। इसे लेने के लिए सुबह से ही कैफे में भीड़ लग जाती है।

दलाल ने बताया कि इन दिनों ग्रीष्मकाल में ट्रेनों में जबर्दस्त भीड़ चल रही है, जिसका फायदा उसे ई-टिकट बुक कर मिल रहा था । जांच में यह भी जानकारी लगी है कि यह दलाल जबलपुर ही नहीं, बल्कि कटनी, दमोह, भोपाल, दिल्ली, वाराणसी, मुंबई, बेंगलोर, चेन्नई की भी टिकट यहां से बुक कर टिकट को मैसेज या वाट्सएप के जरिए भेज देता था। आरपीएफ आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। इस आरोपी से और खुलासे होने की संभावना जताई जा रही।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...