Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

सिंधिया ने बताई क्या है उनके मन की अभिलाषा, देखें वीडियो

शिवपुरी। 

मध्यप्रदेश में नवंबर में चुनाव होने वाले है। इसको लेकर दोनों ही पार्टियों ने तैयारियां शुरु कर दी है। एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज जिले-जिले, गांव-गांव घूमकर सभाएं कर रहे है वही दूसरी तरफ सिंधिया भी लोगों से सीधा संवाद करने मे जुटे हुए है। सिंधिया बीते एक महिने से लगातार सभाएं कर रहे है, लोगों के बीच पहुंच रहे है और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर रहे है।इसी कडी में रविवार को सिंधिया शिवपुरी में व्यापारी समाज के साथ संवाद कार्यक्रम में शामिल हुए और  उनसे विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर सवालों के जवाब दिए। सवालों के जवाब के दौरान सिंधिया ने साफ कर दिया कि उनकी अभिलाषा किसी कुर्सी या सत्ता की नही बल्कि प्रदेश  की जनता के दिल में जगह बनाने की है।

दरअसल, रविवार को सिंधिया शिवपुरी में आय़ोजित व्यापारियो और समाजसेवियों के साथ संवाद कार्यक्रम में पहुंचे थे। जहां एक युवा व्यापारी ने सिंधिया से सवाल किया 'मुझे नेता बनना है, इसके लिए क्या करुं। जिस पर सिंधिया ने उसे नेता न बनने की सलाह देते हुए कहा कि नेता हाथ पकड़ कर कोशिश करता है दूसरे आगे न बढे़ मैं ही आगे रहूं ।उन्होंने कहा नेता बनने की अभिलाषा मत रखो। नेता की अभिलाषा लाल बत्ती और कुर्सी पाने की होती है। राजनीति में आने की अभिलाषा है तो जनसेवा के लिए आएं, लोगों के दिल में अपने लिए जगह बनाए।

वहीं संवाद के दौरान सिंधिया ने रेत के अवैध खनन को लेकर सीएम शिवराज पर भी जमकर हमला बोला और कई गम्भीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सीएम शिवराज नर्मदा यात्रा के बाद अपने भाषण मे बोलते रहते थे कि अब प्रदेश में कोई अवैध खनन नही करेगा।खदानें पूरी तरह से बन्द करेंगे, लेकिन ऐसा नही हुआ। इधर जनता के सामने झूठ बोल, उधर पिछले दरवाजे से भाजपा कार्यकर्ताओं को रेत खनन की खुली छूट दे डाली । होशंगावाद में रोज दिन-रात रेत के ट्रक चलते है, जिन पर अलग-कलर का ठप्पा लगा होता। अधिकारियों को इन ट्रकों को  न रोकने के आदेश पहले ही दे रखे है।लेकिन सच्चाई छुप नही सकती, सबको मालूम है वो ट्रक,डंपर किसके है। हम सरकार में आने पर इन पर कार्रवाई करेंगे।



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...