Breaking News
स्वास्थ्य विभाग में मंत्री का आदेश रद्दी की टोकरी में | मोदी सरकार के 4 साल : बैलगाड़ी, ठेला अैर साइकिल पर सवार होकर कांग्रेस ने मनाया 'विश्वासघात दिवस' | मैं सेवा की ऐसी लकीर खींचूंगा, जिसे मेरे मरने के बाद भी मिटाया न जा सकेगा : शिवराज | पुलिसवाले के दोस्त ने युवतियों से की छेड़छाड़, चप्पलों से हुई पिटाई, खाकी पर उठे सवाल | बैतूल में आज एक और किसान ने की आत्महत्या, सड़क पर शव रख ग्रामीणों ने किया चक्काजाम | MP : मोदी सरकार के चार साल, कांग्रेस मना रही 'विश्वासघात' दिवस | विश्वासघात दिवस : कांग्रेस नेता ने गिनाई मोदी सरकार की 5 नाकामियां | VIDEO : कंटेनर से जा भिड़ा पायलेटिंग वाहन, बाल-बाल बचे स्वास्थ्य मंत्री, 3 पुलिसकर्मी घायल | VIDEO : विधायक ने 'हमसफ़र' को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पहले दिन यात्री दिखें उत्साहित | 6 जून से पहले जिलों में जाकर किसानों को मनाएंगे मुख्यमंत्री  |

छात्रा का किडनैप करने पर उपजा विवाद, ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव, CSP को बनाया बंधक

मुरैना।

सीएम के आदेश के बावजूद भी प्रदेश में अपहरण और छेड़छाड़ की घटनाएं कम होने का नाम नही ले रही है। ताजा मामला मुरैना के अंबाह का है। जहां सरेराह पेपर देकर लौट रही छात्रा का अपहरण की कोशिश की गई , लेकिन मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने छात्रा को बचा लिया और बदमाशों की पिटाई करके पेड़ से बांध दिया। घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को लगी वह मौके पर पहुंची तो गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। इस पथराव के कारण दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। वही ग्रामीणों ने एक पुलिसकर्मी को बंधक बना लिया। इस घटना से पुलिस की गाड़ियां बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी।

जानकारी के अनुसार, 13 साल की वंदना तोमर शनिवार सुबह 7.30 बजे अपने छोटे भाई आकाश और उसका दोस्त सातवीं क्लास का पेपर देने जा रही थी।तभी वहां नहर की पुलिया पर बबलू सखवार और सुग्रीव सखवार बाइक से आए और वंदना का हाथ पकड़कर बाइक पर खींचने की कोशिश करने लगे।तभी वंदना ने अपने भाई को आवाज लगाई। बहन के साथ ऐसा करते देख आकाश और उसका दोस्त दोनों बाइक सवार से उलझ पड़े। लेकिन इससे पहले वे गांव की तरफ भाग गए।तभी आकाश और उसके दोस्त ने शोर मचाया तो गांव के लोगों ने उन्हें पकड़ लिया और जमकर पिटाई कर दी। जब तक पुलिस पहुंची गांव वालों ने दोनों को पेड़ से बांध दिया।

सूचना मिलने पर मौके पर अंबाह टीआई जितेंद्र नगाइच पहुंचे लेकिन आक्रोशित ग्रामीणों ने यह कहते हुए टीआई को लौटा दिया कि जब तक एसपी और विधायक नहीं आएंगे, हम आरोपी लड़कों को पुलिस के हवाले नहीं करेंगे।इसी बीच पुलिस और गांव वालों में बहस हो गई और बहस इतनी बढ़ की विवाद हो गया। ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव करना शुरु कर दिया। इस दौरान सीएसपी विजय सिंह को बंधक बना लिया। वहीं पथराव में पोरसा टीआई अतुल सिंह व एसआई विजय सिंह घायंल हो गए। तीन पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त हो गए।करीब एक घंटे तक हुए हंगामे के बाद सीएसपी को आजाद किया गया।

इसके बाद दोनों संदेही युवकों को हिरासत में लाया गया जहां उनसे पूछताछ की गई ।वही पुलिस ने सीएसपी को बंधक बनाने वालों पर कार्रवाई करते हुए 20 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया और अंबाह थाना ले आई।वहीं अंबाह थाने में 100 लोगों के खिलाफ हत्या की कोशिश समेत सरकारी काम में बाधा, तोड़फोड़ करने का मामला दर्ज किया गया है।पुलिस को आशंका है कि बरवाई के गुस्साए लोग बागपुरा पहुंचकर आरोपियों के घरों में आगजनी नहीं कर दें, इसलिए गांव में आर्म्ड फोर्स तैनात किया गया है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...