किस आईएएस को लिखा सूचना आयुक्त ने हकीम लुकमान का भाई!

Vijay Manohar Tiwari
Vijay Manohar Tiwari
 भोपाल डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश के सूचना आयुक्त की आईएएस को लेकर की गई टिप्पणी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। इस टिप्पणी में आईएएस को हकीम लुकमान का भाई बताया गया है। इस ट्वीट को मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं से जोड़कर देखा जा रहा है।

रिटायर आईएएस ने प्रधानमंत्री पर की अपमानजनक टिप्पणी, पुलिस में हुई शिकायत

 देश के जाने-माने पत्रकार  विजय मनोहर तिवारी का आईएएस अधिकारी पर ट्वीट जमकर चर्चा में है। वर्तमान में प्रदेश के सूचना आयुक्त विजय मनोहर तिवारी ने अपने ट्वीट में लिखा है “हकीम लुकमान का जुड़वा भाई एक उर्स में बचपन में बिछड़ गया था। वह बड़ा होकर आईएएस बन गया। कोरोना काल में बिना गारंटी का इलाज करते हुए देखा गया।न आंकड़ों की गारंटी,न इंजेक्शन, न दवा, न बिस्तर ,न अस्पताल। वह बेहया फिर भी अल्लाह की आंखों का नूर है।”

आईएएस ने बताए उपाय, कोरोना से कैसे कर सकते हैं बचाव

 हालांकि इस ट्वीट में किसी भी व्यक्ति का नाम नहीं दिया गया लेकिन ट्वीट को मध्य प्रदेश में वर्तमान में कोरोना संक्रमण की स्थिति से जोड़कर देखा जा रहा है। आंकड़े जिस तरह तेजी के साथ बढ़ रहे हैं और संक्रमण को रोकने में विफलता सामने आ रही है यह ट्वीट उसी अव्यवस्था की ओर इशारा है। दरअसल मध्य प्रदेश के कई शहरों में रेमेडीसिविर इंजेक्शन सहित ऑक्सीजन की कमी और बेड की उपलब्धता न होने के समाचार लगातार आ रहे हैं। इसके साथ ही कोरोना पॉजिटिविटी रेट भी कई शहरों में तो 15 से 20% को भी पार कर रही है। हालात इस कदर बेकाबू हो रहे हैं कि अकेले भोपाल में पिछले 24 घंटों में  1456  लोग संक्रमित  पाए गए। ऐसे में जिन लोगों पर इस संक्रमण को रोकने की जवाबदेही है और जिनको इस संकट की आहट से पहले ही व्यवस्थाओं को संभालना था यह ट्वीट उन्हीं की ओर इशारा है कि वह अपना काम करने में पूरी तरह से विफल रहे हैं।

इंदौर: आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता, टूटे सारे रिकॉर्ड, 1552 नए मरीजों की पुष्टि, आज से कोविड सेंटर शुरू

विजय मनोहर तिवारी देश के जाने-माने वरिष्ठ पत्रकार हैं और पूरे देश का भ्रमण कर चुके उन चुनिंदा पत्रकारों में से एक है जो बेबाक टिप्पणी के लिए जाने जाते हैं। अब उनका यह ट्वीट मध्यप्रदेश में बदहाल होती स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोल का नजर आता है।

दमोह उपचुनाव: ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भरेंगे हुंकार, सीएम शिवराज संग करेंगे शक्ति प्रदर्शन

तिवारी के आईएएस पर ट्वीट पर जमकर प्रतिक्रियाएं आ रही है ।पत्रकार रविंद्र जैन ने लिखा है “यह ट्वीट ऑफ द ईयर” मोहम्मद सुलेमान का नाम भी नहीं लिखा और जमकर धो दिया।” बीजेपी नेता सर्वेश तिवारी ने लिखा है “आपके साहस और कलम को नमन” राजीव खरे लिखते हैं “बिना धोबी घाट गए की जमकर धुलाई। तिवारी जी आपने तो गजब की धोबी पछाड़ मारी” वहीं पत्रकार सुदेश गौर ने लिखा “यह सिक्सर तो स्टेडियम से बाहर जाकर गिरा।” डॉ राकेश पाठक ने लिखा है “इतनी नफरत कहां से लाते हैं भाई जी। सिर्फ मजहब के आधार पर एक अधिकारी को पूछ रहे हैं। बाकी एक से तो एक नकारा अफसर बैठे हैं। यह हकीम लुकमान के भाई नकारा होंगे पर आपको सिर्फ मजहब की वजह से चुभ रहे हैं ।वैसे सूबे के मुखिया खुद नाकारा साबित हो रहे हैं ।उनके बारे में क्या राय है।” माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति दीपक तिवारी ने लिखा है “जिस संवैधानिक पद पर आप विजय भाई बैठे हैं ,वहां से इस तरह के कमेंट की आप से उम्मीद नहीं करता। अगर लिखना ही है सचमुच में पत्रकारिता करना ही है तो असली मुखिया पर लिखो। अधिकारी सर्वोच्च निर्णयकर्ता के अनुरूप चलते हैं ।”मनीष दीक्षित लिखते हैं “लुकमान का भाई जादूगर है तभी तो सभी की आंखों का नूर है और हां कुछ पहाड़ी लोगों की सेवा भी खूब करता है ।पता नहीं कौन सा नुस्खा है कम्बखत के पास।” कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने लिखा है “विजय भाई हकीकत बयां करने के लिए आभार।”